अपने गांव ka आवास की लिस्ट कैसे देखें

हाल ही केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) की गई लिस्ट ऑनलाइन जारी कर दी गई है. इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले गरीब और बेघर परिवारों को सरकार पक्का मकान बनाने के लिए 1,30,000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान करती है. सरकार इस योजना के लाभार्थियों की सूची समय-समय पर जारी करती रहती है.

अगर आपने भी इस योजना के लिए आवेदन किया है, तो आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपने गांव का आवास की लिस्ट चेक कर लें. जिन लोगों का नाम इस लिस्ट में होगा, केवल उनको ही योजना का लाभ मिलेगा. आगे हम आपको पूरी जानकारी देंगे, इसके लिए लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें.

अपने गांव का आवास की लिस्ट कैसे देखें –

Step-1 : अगर आप अपने गांव का आवास की लिस्ट देखना चाहते हैं, तो सबसे पहले प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं.

Step-2 : इस वेबसाइट के होम पेज पर ऊपर की ओर आपको Stakeholders का ऑप्शन मिलेगा. इसके ड्रॉप मेन्यू में IAY/PMAYG Benificiery पर क्लिक करें.

Step-3 : अब एक नया पेज खुलेगा, इसमें Registration Number भरकर Submit पर क्लिक करें. क्लिक करते ही अपने आवेदन की स्थिति स्क्रीन पर आ जाएगी.

Step-4 : जिन लोगों के पास रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं है, वे Advance Search पर क्लिक करें.

Step-5 : इसके बाद क्रमशः अपना राज्य, जिला, ब्लॉक, पंचायत, स्कीम का नाम, वित्तीय वर्ष आदि सेलेक्ट करें.

Step-6 : सबकुछ सही-सही भरने के बाद , Search पर क्लिक करें.

Step-7 : Search पर क्लिक करने के बाद आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर मिल जाएगा. इस रजिस्ट्रेशन नंबर का इस्तेमाल करके आप अपने गांव का आवास की लिस्ट में अपना नाम देख सकते हैं.

 Also Read : आवास न मिलने पर शिकायत कैसे करें

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की लिस्ट कैसे देखें (Short Method) –

  1. PMAYG की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं.
  2. Stakeholders के अंदर IAY/PMAYG Benificiery पर क्लिक करें.
  3. अपना रजिस्ट्रेशन नंबर दर्ज करके Submit पर क्लिक करें.
  4. अगर आपके पास रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं है, तो Advance Search पर क्लिक करके रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त करें.
  5. इस तरह आप चेक कर सकते हैं कि आपका नाम आवास योजना के लिस्ट में है या नहीं.

आवास योजना की लिस्ट में नाम न होने की वजह –

अगर आपका नाम लिस्ट में नहीं है, तो इसके दो मुख्य कारण हो सकते हैं. पहला कारण हो सकता है कि आप इस योजना का लाभ उठाने के लिए अपात्र हैं अथवा दूसरा कारण हो सकता है कि आपने आवेदन फॉर्म सही-सही नहीं भरा है. आगे हम आपको इस योजना की पात्रता बताएंगे, जिसे पढ़कर आप जान सकते हैं कि आप योजना के लिए पात्र हैं या नहीं.

पात्रता व शर्तें –

  • इस योजना का लाभ केवल भारतीय नागरिकों को ही मिलेगा.
  • आवेदक देश के किसी भी ग्रामीण इलाके में रहता हो.
  • पहले से अपना पक्का मकान न हो.
  • आवेदक का नाम BPL लिस्ट में होना चाहिए.
  • घर में कोई भी सरकारी नौकरी में न हो.
  • पहले केन्द्र या राज्य सरकार की किसी आवास योजना का लाभ न उठाया हो.

अगर आप उपरोक्त पात्रता/शर्तों को पूरा करते हैं, फिर भी आपका नाम अपने गांव के आवास की लिस्ट में नहीं है, तो इसका मतलब है आपने सही-सही आवेदन फॉर्म नहीं भरा है या ग़लत दस्तावेज अपलोड नहीं किया है. आप दुबारा सही दस्तावेजों के साथ आवेदन करके योजना का लाभ उठा सकते हैं.

Also Read : होम लोन सब्सिडी एलिजिबिलिटी 2023, अनुदान पाने की योग्यता

PMAYG FAQ :

1.) प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में कितना पैसा मिलता है?

– इस योजना के तहत मैदानी इलाके के लोगों को पक्का मकान बनाने के लिए 1,20,000 तथा पहाड़ी इलाके के लोगों को 1,30,000 रूपये दिए जाते हैं.

2.) अपने गांव के आवास की लिस्ट कैसे चेक करें?

– सबसे पहले PMAYG की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं. यहां Stakeholders के अंतर्गत IAY/PMAYG Benificiery पर क्लिक करके रजिस्ट्रेशन नंबर भरें और Submit पर क्लिक करें.

3.) प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की सूची कैसे देखें?

– सूची देखने के लिए इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट pmayg.nic.in पर जाएं.

 

Also Read : प्रधानमंत्री आवास योजना 2023 के फॉर्म कब भरे जाएंगे?

Also Read : प्रधानमंत्री आवास योजना न्यू रजिस्ट्रेशन कैसे करें

नमस्कार दोस्तों! मेरा नाम दीपकांत श्रीवास्तव है, मैं एक ब्लॉगर हूँ। SarkariYojnaNews.IN ब्लॉग पर मैं कंटेंट राइटिंग करता हूँ। 2020 से मैंने ब्लॉग्गिंग को फुल टाइम वर्क के तौर पर लिया। पिछले 3 सालों से मैं गवर्नमेंट पालिसी, लोन, निवेश व बैंकिंग हेल्प जैसे विषयों पर ब्लॉग्गिंग कर रहा हूँ।

अगर आपको हमारे ब्लॉग से Backlink चाहिए या Guest Posting करना है तो हमें [email protected] पर मेल करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *